सब कुछ हमें खबर – दो लाइन शायरी

सब कुछ हमें खबर – दो लाइन शायरी

सब कुछ हमें खबर है नसीहत नाम दीजिए क्या होंगे हम खराब ज़माना खराब है।

Share this post