ये शेरो-शायरी सब – दो लाइन शायरी

ये शेरो-शायरी सब – दो लाइन शायरी

ये शेरो-शायरी सब उसी की मेहरबानी है वो कसक जो सीने से आज भी नहीं जाती।

Share this post