बताओ है कि नहीं – उदासी शायरी

बताओ है कि नहीं – उदासी शायरी

बताओ है कि नहीं मेरे ख्वाब झूठे कि जब भी देखा तुझे अपने साथ देखा।

Share this post