एक बार मुलाकात – रोमांटिक शायरी

सूखी पड़ी है दिल की ज़मीं मुद्दतों से यार बनके घटाएं प्यार की बरसात कीजिये। एक बार अकेले में मुलाकात कीजिये। हिलने ना पाए होंठ और कह जाए बहुत कुछ आँखों में आँखें डाल कर हर बात कीजिये। एक बार

Share this post