आज फिर मौसम नम – दिल शायरी

आज फिर मौसम नम हुआ मेरी आँखों की तरह शायद बादलों का भी दिल किसी ने तोड़ा होगा ।

Share this post